CSS क्या है? What is CSS in Hindi

CSS क्या है? और इसका क्या कार्य है? अगर आप वेबसाइट deployment के क्षेत्र में रूचि रखते है तो आप CSS के बारे में जरुर सुने होंगे लेकिन क्या आपको पता है आखिर CSS क्या होता है? और इसका उपयोग वेबसाइट बनाने के लिए कैसे किया जाता है|

आज के इस पोस्ट में हमलोग CSS के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे|

वास्तव में CSS का इस्तेमाल वेबसाइट की डिजाइनिंग में की जाती है| CSS की मदद के किसी भी वेब पेज को अच्छा से अच्छा look दिया जा सकता है| आपको बता दे CSS की मदद से वेबसाइट बनाया नहीं जा सकता बस उसको सजाया जा सकता है| चलिए विस्तार से जानते है CSS kya hai?

CSS क्या है?

css kya hai
css kya hai

CSS एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल वेबसाइट या किसी भी वेब पेज की सजावट के लिए किया जाता है|

CSS का विस्तृत रूप Cascading Style Sheets होता है जो वेबसाइट की font, Size और position आदि को manage करके एक अच्छा look देता है|

CSS सीखना अन्य कंप्यूटर भाषा की तुलना आसान है| सिर्फ CSS का इस्तेमाल कर कभी भी वेबसाइट नहीं बनाया जा सकता है| इसके लिए HTML का मदद लेना पड़ेगा| CSS की मदद से सिर्फ वेबसाइट की सही रूप से सजावट या आकार दिया जाता है|

HTML की मदद से वेबसाइट को बनाया जाता है लेकिन उसमे जबतक CSS का इस्तेमाल नहीं किया जाता है, देखने में अच्छा नहीं लगता है इसलिए वेबसाइट बनाने के क्षेत्र में CSS की भूमिका अहम् है|

Read Also:  भारत का आत्मनिर्भर बनने में विज्ञान और तकनीक की भूमिका | Role of Science and Technology in Make in India Aatmnirbhar Bharat

CSS के प्रकार

css ke prakar
css ke prakar

मुख्यत CSS की कोडिंग 3 तरीके की होती है|

  1. Inline CSS
  2. Internal CSS
  3. External CSS

1. Inline CSS

जब CSS की कोड को HTML टैग के अंदर की लिखा जाता है तो उसे inline CSS के नाम से जाना जाता है| निचे दिए गए उदहारण से समझने की कोशिश करते है|

<div style = “color:blue;height:20px;width:10px;background-color:pink;”>Text</div>

ऊपर बताये गए उदहारण से हमलोग समझे की किस प्रकार से किसी element के अंदर ही CSS की कोडिंग की जाती है| दिए गए उदहारण में Div. element के अंदर CSS की कोड को लिखा गया गई जिसका आउटपुट के तौर पर एक आयताकार बॉक्स आएगा जिसका उचाई 20px और चौराई 10px और उसके बैकग्राउंड का कलर पिंक होगा|

2. Internal CSS

इस प्रकार की CSS कोड किसी खास HTML पेज के लिए लिखा जाता है और यह सिर्फ उसी पेज के लिए कार्य करता है जिसके HTML टैग के अंदर इसको लिखा जाता है| इसके उपयोग अधिकतर single पेज की वेबसाइट बनाने के लिए किया जाता है| आप इसको निचे दिए गए उदहारण के साथ आसानी से समझ सकते है|

<!DOCTYPE html>
<html>
<head>
<style>
body {background-color: pink;}
h1   {color: blue;}
p    {color: red;}
</style>
</head>
<body>

<h1>This is a heading</h1>
<p>This is a paragraph.</p>

</body>
</html>

इस उदाहरण में हमलोग देखे की कैसे HTML टैग के अंदर ही CSS की कोडिंग की जाती है|

3. External CSS

CSS का यह प्रकार काफी ज्यादा पोपुलर है| इसमें हमलोग CSS की एक अलग फाइल तैयार करते है और उसको HTML की कोडिंग के साथ जोड़ते है| अक्सर बड़ी-बड़ी वेबसाइट बनाने के लिए इसी CSS का इस्तेमाल किया जाता है| आप इसे निचे दिए गए उदाहरण को देख कर आसानी से समझ सकते है|

Read Also:  Facebook New Feature: अब इस्तेमाल करे फेसबुक का ये नया फीचर, जाने विस्तार से

उदाहरण के लिए हमारे पास index.html नाम की एक फाइल है जिसको हमलोग style.css नाम की CSS फाइल से जोर कर दिखाए है|

<html>

<head>

<title></title>

<link rel =”stylesheet” href =”style.css” type =”test/css”>

</head>

<body>

<p> write your text</p?

</body>

</html>

ऊपर बताये गए उदाहरण के माध्यम से हमने यह जाना की कैसे css की फाइल को HTML में जोड़ते है|

CSS के फायदे

अब तक हमलोग यह जान चुके है की CSS क्या है? और यह कितने प्रकार के होते है| अब हमलोग यह भी जानेंगे की css के क्या फायदे है|

1. Maintain करने में आसानी

अगर आप CSS की कोड अपनी वेबसाइट में उपयोग करते हो तो आपको पता ही होगा इसे मेन्टेन करना कितना आसान होता है| अगर आप वेबसाइट की डिजाईन को बदलने का मन हो तो आप अपने CSS को फाइल को modify करके कर सकते हो इसमें आपको वेबसाइट की पूरी कोडिंग बदलने की आवश्यकता नहीं पड़ती है| साथ ही जब भी आप CSS को अपडेट करते हो यह आटोमेटिक आपके वेबसाइट पर साथ-ही-साथ बदलाव ला देती है|

2. वेबसाइट की स्पीड को बढ़ता है

CSS वेबसाइट की स्पीड पर भी अपना असर दिखता है| जब भी हमलोग किसी वेब पेज में css का इस्तेमाल करते है जो हमे HTML तागे के attributes को बार-बार दोहराने की जरूरत नहीं पड़ती है, जिसकारण वेबसाइट का साइज़ कम होता है और लोडिंग स्पीड भी तेज हो जाती है| तेज़ लोडिंग के कारण वेबसाइट सर्च रिजल्ट में भी अच्छा प्रदर्शन देता है|

Read Also:  [ऑफर] ख़रीदे IPhone SE मात्र 10 हज़ार रुपयों में| अब तक का सबसे बड़ा discount, जाने कैसे ले

3. कोडिंग में समय बचाता है

अगर आप एक बहुत सारी पेज वाली वेबसाइट बनाते हो तो आपको सभी पेज के लिए अलग-अलग css कोड लिखने की जरूरत नहीं पड़ती है| एक ही कोड का इस्तेमाल सभी पेज के लिए किया जा सकता है इसलिए इसमें समय की खपत भी कम होती है और बहुत की कम समय में अच्छा से अच्छा वेबसाइट डिजाईन किया जाता है|

अंतिम शब्द

आज के इस पोस्ट में हमलोगों ने सिखा की CSS क्या है? और इसके प्रकार तथा इसके फायदे| उम्मीद है की इस पोस्ट को पढने के बाद आप यह जान चुके की css क्या होता है? और इसका उपयोग क्यों किया जाता है|

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो अपने दोस्तों के साथ जरुर साझा करे|

इसे भी पढ़े-