RSI Indicator in Hindi | RSI से पता करें शेयर का मूल्य बढेगा या घटेगा

RSI Indicator in Hindi, अगर आप शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करते है अथवा करने का सोच रहे है तो आप RSI इंडिकेटर का नाम जरुर सुने होंगे| यह एक टेक्निकल एनालिसिस करने वाली इंडिकेटर है जिसका विस्तृत रूप  Relative Strength Index है| इस इंडिकेटर का इस्तेमाल किसी भी शेयर की प्राइस की गतिविधि को जानने के लिए क्या जाता है|

यह बहुत ही लोकप्रिय इंडिकेटर है जिसके माध्यम से ट्रेडर यह अनुमान लगता है किसी भी शेयर का मूल्य बढ़ सकता है अथवा धत सकता है| ट्रेडिंग के क्षेत्र में यह एक बहुत ही प्रचलित इंडिकेटर है| और लगभग सभी इंट्राडे तथा शोर्ट टर्म ट्रेडर इस इंडिकेटर का इस्तेमाल अवश्य करते है|

RSI Indicator in Hindi

RSI Indicator in Hindi

RSI यानि Relative Strength Index, जैस इसके नाम में ही Strength शब्द का प्रयोग किया गया है, यह इंडिकेटर किसी भी शेयर के ताकत यानि Strength को बताने का कार्य करती है| RSI किसी भी शेयर के मूवमेंट के आधार पर उस शेयर का ताकत का मूल्यांकन करता है और हमे बताना है| और हम उसी के अनुरूप उस शेयर में ट्रेड कैसे प्रॉफिट कर सकते है|

Read Also:  HDFC AMC Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030

RSI इंडिकेटर का इस्मेमाल मुख्य रूप में इंट्राडे तथा positional ट्रेडर की करते है, इन्वेस्टर को RSI इस्न्तेमाल करने की आवश्यकता नहीं होती है| क्योंकि यह एक टेक्निकल एनालिसिस करने वाली इंडिकेटर है और इन्वेस्टर किसी भी शेयर में इन्वेश करने से पहले फंडामेंटल एनालिसिस का इस्तेमाल करते है|

अगर आप भी ट्रेडिंग के माध्यम से पैसा कमा चाहते है तो आपके लिए भी RSI इंडिकेटर एक बहुत अच्छा इंडिकेटर हो सकता है| और आप इस इंडिकेटर की सहायत से प्रोफिट्स वाली ट्रेड कर सकते है और अच्छा खासा प्रॉफिट कमा सकते है|

यह इंडिकेटर शेयर के प्राइस के मूवमेंट के आधार पर 0 से लेकर 100 तक के बीच में घूमता रहता है| इसीलिए इसे oscillator भी कहा जा सकता है| किसी भी शेयर में जब RSI 70 से ऊपर रहता है तो इसका मतलब यह है कि उस शेयर को बहुत ज्यादा खरीद लिया गया है, उसमे कभी भी छोटी से गिरावट आ सकता है|

वहीँ जब RSI 30 से नीचे रहता है तो इसका मतलब यह है कि शेयर को ज्यादा मात्रा में बेचा जा चूका है अब यहाँ से शेयर का प्राइस बढ़ सकता है| जब भी RSI 30 से नीचे हो तो हमे शेयर को खरीदने का मौका खोजना चाहिए और जब भी RSI 70 से ऊपर हो तो हमे शेयर को बेचने का मौका खोजना चाहिए|

Read Also:  Bollinger bands इंडिकेटर का इस्तेमाल कैसे करे? Bollinger Bands Indicator in Hindi

RSI Indicator के फायदे

इस इंडिकेटर के माध्यम से किसी भी स्टॉक के ट्रेंड का पता किया जा सकता है, और अगर हम ट्रेंड का पता कर लेते है तो हमे ट्रेड करने में आसानी होती है और लाभ होने का चांस भी ज्यादा होता है|

साथ-ही RSI इंडिकेटर हमे Overbought और Oversell के बारे में भी जानकारी देता है जिससे हमलोग यह पता हो जाता है कि हमे शेयर को कब खरीदना चाहिए और कब बेचना चाहिए|

Overall देखा जाये तो इस इंडिकेटर के माध्यम से हम किसी भी शेयर को कम मूल्य में खरीद कर ज्यादा से ज्यादा मूल्य में बेच सकते है| अगर आप इंट्राडे ट्रेडर है तो यह इंडिकेटर आपके लिए बहुत ही अच्छा इंडिकेटर हो सकता है|

कोई भी इंडिकेटर हमेह्सा सही नहीं हो सकता है इसीलिए ट्रेड हमे अपने रिस्क के अनुसार और Stop Loss के साथ ही करें|

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट के माध्यम से हमने RSI Indicator in Hindi के बारे में विस्तार से चर्चा किया| उम्मीद है कि इस पोस्ट में शेयर की गयी जानकारी आपको अवश्य पसंद आई होगी| इस पोस्ट में हमने विस्तार से यह समझाने का कोशिश किया कि RSI इंडिकेटर क्या है? और कैसे इस इंडिकेटर की सहायता से ट्रेड कैसे प्रोफिट्स कमा सकते है|

Read Also:  Bullish Harami पैटर्न क्या है? Bullish Harami Pattern in Hindi

लेकिन आपके जानकारी के लिए आपको बता दें कि कोई भी इंडिकेटर हमेशा सही नहीं होता है| इसीलिए ट्रेड हमेशा अपने रिस्क के अनुसार ही लारें और stop loss का पालन अवश्य करें| आप ट्रेडिंग से तब ही पैसा कमा सकते है जब आप अनुशासन में रहकर ट्रेड करेंगे|